Government decides to teach English from 1st to 3rd class in Gujarat middle schools

Government decides to teach English from 1st to 3rd class in Gujarat middle schools

सरकार ने गुजरात के मिडिल स्कूलों में पहली से तीसरी कक्षा तक अंग्रेजी पढ़ाने का फैसला किया है। गुजरात सरकार ने गुजरात माध्यम में पढ़ने वाले पहली से तीसरी कक्षा तक के छात्रों को अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा प्रदान करने की योजना बनाई है। इस शैक्षणिक वर्ष 2022 से गुजराती माध्यम के स्कूलों में कक्षा 1 से कक्षा 3 तक अंग्रेजी अनिवार्य करने का विचार गुजरात राज्य के शिक्षा मंत्री जीतू वकानी ने रखा था।

गुजरात के शिक्षा मंत्री जीतू वकानी के मुताबिक, कक्षा 1 और 2 को मौखिक रूप से और चित्रों के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाएगा। तीसरी कक्षा के छात्रों को केवल पाठ्यपुस्तकों से पढ़ाया जाएगा। राज्य सरकार ने शिक्षकों को अंग्रेजी भाषा का प्रशिक्षण देने का भी निर्णय लिया है। ट्रेन में पहली से तीसरी कक्षा तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए सरकार उन्हें दुश्मन बना लेती है।

यह अब गुजरात के सरकारी स्कूलों में 5वीं कक्षा से अंग्रेजी भाषा की शिक्षा का एक हिस्सा है। लेकिन चूंकि अंग्रेजी भाषा की दक्षता इतनी महत्वपूर्ण हो गई है, इसलिए राज्य सरकार ने कम उम्र से ही बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाना शुरू करने का फैसला किया है। नवीनतम अपडेट और परीक्षा विवरण प्राप्त करने के लिए आवेदक अक्सर इस पृष्ठ का अनुसरण कर सकते हैं।

Leave a Reply